Home #Delhi#ED#Kejriwal केजरीवाल के विश्वास प्रस्ताव पर आज चर्चा:शराब घोटाले मामले में मुख्यमंत्री आज...

केजरीवाल के विश्वास प्रस्ताव पर आज चर्चा:शराब घोटाले मामले में मुख्यमंत्री आज कोर्ट में पेश हो सकते हैं, 6 समन भेज चुकी है ED

12
0

दिल्ली में केजरीवाल सरकार के विश्वास प्रस्ताव पर शनिवार को विधानसभा में सुबह 11 बजे से चर्चा होगी। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने शुक्रवार (16 फरवरी) को विधानसभा में तीसरी बार विश्वास प्रस्ताव पेश किया था।

केजरीवाल ने कहा था कि भाजपा उन्हें गिरफ्तार करवाकर सरकार गिराना चाहती है। उन्होंने भाजपा पर खरीद-फ़रोख़्त का आरोप लगायया है। कहा है कि हमारे विधायकों को 25-25 करोड़ रुपए का ऑफर दिया गया है।

स्पीकर राम निवास गोयल ने विश्वास प्रस्ताव स्वीकार करने के बाद गुरुवार को सदन को स्थगित कर दिया था। उन्होंने कहा था कि शनिवार को इस विश्वास प्रस्ताव पर चर्चा होगी। केजरीवाल ने इससे पहले मार्च 2023 और अगस्त 2022 में विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव पेश किया था।

आज ही के दिन केजरीवाल को दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में भी पेश होना है। शराब घोटाले में ED ने 5 समन के बाद भी केजरीवाल के पेश नहीं होने पर कोर्ट में याचिका लगाई थी।

इस पर 14 फरवरी को कोर्ट ने केजरीवाल को समन जारी करते हुए 17 फरवरी को पेश होने का निर्देश दिया था। इसके फौरन बाद ED ने केजरीवाल को छठा समन जारी किया और 19 फरवरी को पूछताछ के लिए बुलाया है।मेरे विधायकों से कहा गया- मुझे गिरफ्तार किया जाएगा
विधानसभा में विश्वास मत प्रस्ताव पेश करते हुए केजरीवाल ने कहा था- भाजपा दिल्ली में ऑपरेशन लोटस चला रही है। हमारी पार्टी के 2 विधायकों से उन्होंने संपर्क किया और दावा किया था कि केजरीवाल को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

दोनों विधायकों को भाजपा के लोगों ने कहा कि AAP के 21 अन्य विधायक उनके संपर्क में हैं और पार्टी छोड़ने को तैयार हैं। उन्हें 25-25 करोड़ रुपए ऑफर किए गए हैं। हालांकि, हमने जब विधायकों से पूछताछ की तो हमें पता चला कि उन्होंने 7 विधायकों से संपर्क किया है।भाजपा के 7 विधायक सस्पेंड
दिल्ली विधानसभा के स्पीकर ने शुक्रवार को सदन से भाजपा के 8 में से 7 विधायकों को बजट सेशन से सस्पेंड कर दिया था। इसमें नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी भी शामिल हैं। स्पीकर ने कहा कि सस्पेंड किए गए विधायकों ने एक दिन पहले गुरुवार को LG के अभिभाषण को रोकने की कोशिश की थी। वे चाहते थे कि केजरीवाल पर जुबानी हमला किया जाए। आज विश्वास प्रस्ताव के दौरान भाजपा के 7 विधायक सदन में मौजूद नहीं रहेंगे।दिल्ली के CM केजरीवाल ने 29 मार्च 2023 को दिल्ली की विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव पेश किया था। इस दौरान विपक्ष के सभी 8 विधायकों ने वॉकआउट किया था। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा था- देश में दो लोगों को छोड़कर सब डरे हुए हैं। जिस दिन मोदी प्रधानमंत्री नहीं रहेंगे, उस दिन भारत भ्रष्टाचार मुक्त हो जाएगा। BJP हमारे विधायकों को खरीदने की कोशिश में हैमुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 29 अगस्त 2022 को भी विधानसभा में विश्वासमत प्रस्ताव पेश किया था। इस प्रस्ताव से पहले भाजपा विधायकों ने दिल्ली में सीवर-पानी और भ्रष्टाचार पर चर्चा कराने की मांग की थी, जिसके बाद सभी विधायकों को पूरे दिन के लिए सदन से बाहर कर दिया गया। इधर, आप के सभी विधायक LG विनय कुमार सक्सेना के इस्तीफे की मांग को लेकर पूरी रात दिल्ली विधानसभा के भीतर धरना देने की बात कही थी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here