Home Blog नीतीश सरकार का फ्लोर टेस्ट कल:RJD विधायक तेजस्वी के आवास पर रुके,...

नीतीश सरकार का फ्लोर टेस्ट कल:RJD विधायक तेजस्वी के आवास पर रुके, यहीं डिनर, गाना गाया; कांग्रेस MLA आज पटना पहुंचेंगे

14
0

बिहार में नीतीश सरकार का सोमवार (12 फरवरी) को फ्लोर टेस्ट है। इससे पहले यहां सियासी हलचल तेज हो गई है। अपने विधायक टूटें नहीं, इसके लिए आरजेडी, जेडीयू, कांग्रेस और भाजपा ने बाड़ेबंदी की है।
आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने पार्टी के सभी विधायकों को शनिवार 10 फरवरी को अपने आवास पर ठहराया हुआ है तो वहीं बीजेपी अपने विधायकों को ट्रेनिंग के बहाने बोधगया ले गई है।
वहीं, नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू के 5 विधायक मंत्री श्रवण कुमार के घर पर आयोजित लंच में नहीं पहुंचे, जिसके बाद कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। कांग्रेस के विधायक फ्लोर टेस्ट के लिए आज दोपहर 3 बजे हैदराबाद से पटना पहुंचेंगे और एयरपोर्ट से सीधे तेजस्वी आवास जाएंगे।
सूत्रों के मुताबिक, फ्लोर टेस्ट से पहले बिहार में जांच एजेंसी ED और इनकम टैक्स की एक्टिव हो गई है। कुछ राजनीतिक दलों और नेताओं के बीच पैसों के संदिग्ध लेन-देन के मद्देनजर नजर रखी जा रही है।
आरजेडी के सभी विधायक तेजस्वी के आवास पर, कल मीटिंग के लिए बुलाया था; दो नहीं पहुंचेतेजस्वी यादव ने अपने विधायकों को कल की बैठक के बाद से अपने बंगले पर रखा हुआ है। वहीं पर विधायकों के नाश्ते, खाने और मनोरंजन की व्यवस्था की गई है। सीपीआई (माले) समेत वाम पार्टियों के सभी 16 विधायक सुबह तेजस्वी आवास पर पहुंचे। यहां सभी ने ब्रेकफास्ट किया।
देर रात म्यूजिक प्रोग्राम भी चला। चौधरी यूसुफ कैसर, चेतन आनंद ने गाना सुनाकर विधायकों को एंटरटेन किया। यहां से ये 12 फरवरी को विधानसभा बजट सत्र में जाएंगे। आरजेडी ने अपने विधायकों के लिए व्हिप भी जारी कर दिया है। तेजस्वी रविवार दोपहर बाद अपने विधायकों के साथ क्रिकेट भी खेलेंगे।
दो विधायक क्यों नहीं आए: पटना की विधायक बाहर हैं। उनके बारे में कहा जा रहा है कि सत्ता पक्ष के तरफ से उन्हें लोकसभा का ऑफर है। सीवान के विधायक जिले में मुस्लिम राजनीति के चलते नेतृत्व से नाराज चल रहे हैं।भाजपा प्रशिक्षण से 2 विधायक गैरहाजिर
बीजेपी ने अपने 78 विधायकों को बोधगया में रखा हुआ है। रविवार को सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक यहां वर्कशॉप चलेगा। ये विधायक कल सीधे फ्लोर टेस्ट के लिए पटना पहुंचेंगे। वर्कशॉप में दरभंगा जिला के एक विधायक और पश्चिमी चंपारण की एक विधायक अनुपस्थित रहे। डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी ने कहा- प्रशिक्षण में सदस्यों को सदन की जानकारी दी जा रही है।
क्यों नहीं आए: दरभंगा जिले के विधायक अपने क्षेत्र समीकरण के चलते परेशान हैं। वहीं, पश्चिम चंपारण की विधायक पार्टी के साथ हैं, पर उनकी तरफ से नहीं आने की कोई स्पष्ट जानकारी भाजपा नेतृत्व को नहीं मिल पाई।

जेडीयू: 6 विधायक डिनर पर नहीं आए, आज बैठक

जेडीयू के विधायकों की भी बैठक रविवार शाम को मंत्री विजय चौधरी के आवास पर होने वाली है। इसको लेकर जेडीयू ने शनिवार को व्हिप जारी कर दिया था। हम पार्टी ने भी विधायकों को व्हिप जारी कर दिया है।
इससे पहले मंत्री श्रवण कुमार के सरकारी आवास पर शनिवार को सभी 45 विधायकों को डिनर पर बुलाया गया था। 39 ही पहुंचे। विजय चौधरी ने कहा- जो नहीं आए वो जानकारी देकर नहीं आए। सभी कांटेक्ट में हैं।
क्यों नहीं आए: दिलीप राय, डॉ.संजीव कुमार, शालिनी मिश्रा, सुदर्शन, अशोक कुमार चौधरी और बीमा भारती डिनर में नहीं पहुंचे। क्यों नहीं आए हैं, इसकी जानकारी अभी इन विधायकों ने नहीं दी।बिहार में अभी जिस शब्द की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है वो है ‘खेला’। खेला अभी बाकी है…एनडीए सरकार के गठन के दौरान तेजस्वी यादव के इस एक बयान ने सूबे की सियासत को कौतूहल से भर दिया है। सभी पार्टियां अपने विधायकों को शक की नजर से देख रही है। कल यानि 12 फरवरी को सदन में फ्लोर टेस्ट होना है। इससे पहले अब हर दल अपने विधायकों की लॉयलटी (निष्ठा) टेस्ट करने में जुटी हैं। विधायकों से दस्तखत लिए जा रहे हैं। उन्हें नजरबंद किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here