Home #Bollywood दोस्त के ऑडिशन में शाहिद को मिला पहला एड

दोस्त के ऑडिशन में शाहिद को मिला पहला एड

21
0

इश्क-विश्क, विवाह, जब वी मेट, हैदर, आर. राजकुमार और कबीर सिंह जैसी बेहतरीन फिल्मों में नजर आए चॉकलेटी हीरो शाहिद कपूर आज 43 साल के हो चुके हैं। पंकज कपूर जैसे दिग्गज कलाकार का बेटा होने के बावजूद उनका फिल्मों में आने का सफर आसान नहीं रहा।

3 साल के थे, जब उनके पेरेंट्स का तलाक हो गया। ऐसे में उनकी परवरिश उनके नाना-नानी ने की। महज 15 साल के थे, जब इंडिपेंडेंट बनने के लिए शाहिद एक बैकग्राउंड डांसर बन गए। कभी ताल में ऐश्वर्या के पीछे खड़े नजर आए, तो कभी दिल तो पागल है के गाने ले गई ले गई में करिश्मा के पीछे खड़ी भीड़ का हिस्सा बने। एक बार तो यूं भी हुआ जब करिश्मा कपूर ने उन्हें सरेआम बेइज्जत किया था, हालांकि जब शाहिद फिल्मों में आए तो करिश्मा की बहन करीना कपूर ने शाहिद को प्रपोज किया था।

करीब 200 ऑडिशन से रिजेक्ट होने के बाद एक संयोग से शाहिद को पेप्सी के एड में काम मिला था। उस एड के जरिए पहले म्यूजिक वीडियो मिला और फिर फिल्म। फिल्मों में आने के बावजूद शाहिद को सालों तक स्टेबल होने का इंतजार करना पड़ा। कई फ्लॉप फिल्में दीं और सेटबैक्स रहे, लेकिन शाहिद ने अपने हुनर ने हर बार दमदार वापसी की।3 साल की उम्र में पिता छोड़ गए तो मां ने अकेले की परवरिश

25 फरवरी 1981 को शाहिद कपूर का जन्म नई दिल्ली में हुआ था। उनके पिता पंकज कपूर एक जाने-माने एक्टर थे और मां नीलिमा अजीम एक एक्ट्रेस और डांसर। शाहिद कपूर महज 3 साल के थे, जब पंकज कपूर ने उनकी मां से तलाक ले लिया।
नीलिमा अजीम ने अकेले ही शाहिद की परवरिश की। सिमी गरेवाल को दिए एक इंटरव्यू के दौरान नीलिमा अजीम ने बताया था कि वो जब भी अकेलेपन में उदास होती थीं या रोती थीं, तो 3 साल के शाहिद उन्हें समझाते थे- आप परेशान मत हो, मैं आपके साथ हूं। छोटे से बच्चे की इतनी बड़ी बात सुनकर नीलिमा हैरान रह जाती थीं।

साल में सिर्फ एक बार होती थी पिता पंकज कपूर से मुलाकात

80 के दशक में पंकज कपूर फिल्मों में स्ट्रगल कर रहे थे। नीलिमा से तलाक के बाद वो नई दिल्ली छोड़कर मुंबई जाकर बस गए, जहां उन्होंने एक्ट्रेस सुप्रिया पाठक से शादी कर ली। काम और परिवार में व्यस्त होने के कारण पंकज कपूर साल में सिर्फ एक बार शाहिद से मिलने नई दिल्ली आते थे। वो मुलाकात भी महज चंद घंटों की होती थी।

बचपन से ही कबीर सिंह की तरह अग्रेसिव थे शाहिद कपूर

शाहिद कपूर की मां नीलिमा अजीम एक बेहतरीन डांसर थीं। काम के सिलसिले में उन्हें जब भी शहर या देश से बाहर जाना होता था तो वो शाहिद को भी अपने साथ ले जाती थीं। वो जब भी स्टेज पर परफॉर्म करती थीं, तो शाहिद उन्हें दूर से देखकर तालियां बजाते थे। एक बार नीलिमा, 6 साल के शाहिद को अपने साथ बेल्जियम ले गई थीं। डांस परफॉर्मेंस खत्म होते ही एक फ्रैंच आदमी नीलिमा के पास आया और उनसे कॉफी का पूछने लगा।

जैसे ही शाहिद ने यह देखा तो वो तुरंत उनके पास पहुंच गए। उन्होंने उस आदमी से गुस्से में कहा, ‘इनसे (नीलिमा) बात करने से पहले आपको मुझसे डील करना पड़ेगा।’ नन्हें से शाहिद का गुस्सा देखकर नीलिमा हंस पड़ी थीं। मां को प्रोटेक्ट करने के लिए शाहिद हमेशा उनके साथ-साथ घूमा करते थे।10 साल की उम्र में मां छोड़ गईं, तो नाना के साथ बीता बचपन

शाहिद कपूर महज 10 साल के थे, जब नीलिमा अजीम फिल्मों में काम की तलाश में मुंबई शिफ्ट हो गईं, ऐसे में वो शाहिद को उनके नाना-नानी के पास छोड़ गईं। शाहिद कपूर के नाना एक पत्रकार थे, जो रशियन मैगजीन स्पूतनिक के लिए काम करते थे। वो रोज शाहिद को स्कूल छोड़ने और लेने जाते थे, उन्हें कहानियां सुनाते थे और पंकज कपूर के किस्से सुनाते थे। इस समय वो अपने नाना के बेहद करीब रहे थे।

जब नीलिमा अजीम ने 1990 में राजेश खट्टर से शादी की, तो उन्होंने शाहिद को भी अपने साथ रहने के लिए मुंबई बुला लिया। 1995 में नीलिमा ने बेटे ईशान खट्टर को जन्म दिया था।

बचपन में हुआ था पहला प्यार, घर में लगा ली थी लड़की की तस्वीर

शाहिद कपूर को हाई स्कूल के दिनों में साथ पढ़ने वाली एक लड़की से प्यार हो गया था। वो उस लड़की के लिए इतने संजीदा थे कि उन्होंने उस लड़की की तस्वीर घर में लगा ली थी। जैसे ही एक दिन उनके सौतेले पिता राजेश खट्टर को इसका पता चला तो वो डर गए। उन्होंने सीधे नीलिमा से बात की और कहा, ‘इसे समझाओ, कहीं ये इस लड़की से शादी न कर ले।’ बाद में नीलिमा ने राजेश को समझाया कि शाहिद अभी बच्चे हैं और ऐसा कुछ नहीं करेंगे। ये किस्सा खुद राजेश खट्टर ने सिद्धार्थ कानन को दिए एक इंटरव्यू में सुनाया था

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here